Fri. Jul 1st, 2022
rajnath singh

वेलकम टू इंडिया बायोग्राफी ब्लॉग, इस बायो लेख में आप भारत के पूर्व बीजेपी अध्यक्ष, गृहमन्त्री और वर्तमान में रक्षामन्त्री राजनाथ सिंह के जीवन परिचय (Rajnath Singh Biography in Hindi) से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करेंगे तो चलिए जान लेते हैं की राजनाथ सिंह कौन हैं ?

जीवन परिचय –

राजनाथ सिंह का जन्म 10 जुलाई 1951 को भारत के सबसे बड़े राज्य, उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले (वर्तमान में चंदौली जिला) में एक छोटे से ग्राम “भाभोरा” में हुआ था। यह एक राजपूत परिवार में सम्बन्ध रखते है, इनके पूर्वज लोग राजपूत थे। इनके पिता का नाम राम बदन सिंह और माता का नाम गुजराती देवी था। राजनाथ महज 13 वर्ष की आयु में वर्ष 1964 में संघ परिवार से जुड़े, उस समय यह उत्तर प्रदेश के मिर्ज़ापुर जिले में भौतिकी व्याख्यता की नौकरी करते थे। वर्ष 1974 में इनको चमकदार तिलक के साथ भारतीय जनसंघ का सचिव नियुक्त किया गया था।

Rajnath Singh Biography in Hindi – संछिप्त परिचय

rajnath singh biography in hindi
Rajnath Singh Biography in Hindi

वास्तविक नाम – राजनाथ सिंह
जन्म – 10 जुलाई 1951 को वाराणसी में
वर्तमान में – देश के रक्षामन्त्री
पूर्व में रख चुके हैं – बीजेपी के अध्यक्ष, संघ के सदस्य, गृहमन्त्री
प्रोफेशन – राजनितज्ञ
पार्टी – बीजेपी
पिता का नाम – राम बदन सिंह
माता का नाम – गुजराती देवी
पत्नी का नाम – सावित्री सिंह
संताने – 2 पुत्र और 1 पुत्री
वर्तमान में पता – दिल्ली
भौतिक विज्ञान के प्रवक्ता भी रह चुके हैं मिर्ज़ापुर में
अधिकारी वेबसाइट – rajnathsingh.in
चुनावी स्थल – लखनऊ

राजनाथ सिंह की शिक्षा –

राजनाथ सिंह ने अपनी शुरुआती शिक्षा अपने गावं से ही की थी, बाद में जब यह बड़े हुए तो इन्होने दीन दयाल उपाध्याय यूनिवर्सिटी, गोरखपुर से अपनी कॉलेज की पढाई पूरी फिर इन्होने के.बी कॉलेज मीरजापुर उत्तर प्रदेश में जाकर भौतिक विज्ञान के प्रवक्ता के रूप में पढ़ाना शुरू कर दिया था, बाद में यह संघ के सदस्य बन गए और राजनितिक दुनिया में प्रवेश कर गए।

राजनाथ सिंह का राजनितिक कैरियर –

राजनाथ सिंह में मजह 13 साल की उम्र में वर्ष 1964 को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े थे, बाद में वर्ष 1972 में इनको मिर्जापुर के शाखा कार्यवाह (महासचिव) बनाया गया था। वर्ष 1974 में दो साल बाद यह पूरी तरह से राजनितिक दुनिया में प्रवेश किये थे। उसके पहले यह वर्ष 1969 से 1971 के बीच वह गोरखपुर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (आरएसएस के छात्र संगठन) के संगठनात्मक सचिव भी रहे थे। वर्ष 1974 में, यह भारतीय जनता पार्टी के पूर्ववर्ती भारतीय जनसंघ की मिर्जापुर इकाई के लिए सचिव बने थे।

वर्ष 1975 में, इनको 24 वर्ष की आयु में, जनसंघ का जिला अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। वर्ष 1977 में, इनको पहली बार मिर्जापुर से विधान सभा के सदस्य चुने गया था, उस समय यह जेपी आन्दोलन से प्रभावित हुए थे, और जनता पार्टी में शामिल हो गए थे। उसी समय वर्ष 1975 में इनको जेपी मूवमेंट के साथ जुड़ने के लिए राष्ट्रीय आपातकाल की स्थिति में गिरप्तार किया गया था। दो साल बाद रिहा होने के बाद इनको फिर से विधान सभा के सदस्य के रूप चुना गया। उसी समय इन्होने राजनीति में काफी प्रसिद्धि हांसिल की और वर्ष 1980 में बीजेपी में शामिल हो गए, वर्ष 1984 में राजनाथ सिंह को भाजपा युवा विंग का राज्य अध्यक्ष चुना गया, बाद में वर्ष 1986 में इनको राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया फिर वर्ष 1988 में यह पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष बने, फिर इनको उत्तर प्रदेश विधान परिषद में भी चुना गया।

मध्यकालीन राजनीति के समय में इन्होने वर्ष 1991 में, उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनवायी थी। जिसमे इनको शिक्षा मंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर मिला था, जिसमे इन्होने एंटी-कॉपिंग एक्ट, 1992 शामिल किया था। इनके शिक्षामंत्री रहते समय ही उत्तर प्रदेश में विज्ञान ग्रंथों का आधुनिकीकरण किया गया था और वैदिक गणित को पाठ्यक्रम में शामिल किया गया। समय बितने के साथ वर्ष 2000 में, राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने और 2001 और 2002 में हैदरगढ़ से दो बार विधायक चुने गए थे। बाद में मायावती की सरकार बन गयी तब से बहुत सालों तक उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार नहीं बन पायी, अभी तो 2017 से इनकी ही सरकार यहाँ पर है।

वर्ष 1994 में, इनको पहली बार राज्य सभा के लिए चुना गया था। जहाँ इन्होने वर्ष 1994 से 96 तक उद्योग पर सलाहकार समिति के लिए कार्य किया। उसके एक साल बाद 25 मार्च 1997 को, इनको उत्तर प्रदेश में भाजपा की इकाई के अध्यक्ष बनाया गया और 1999 में यह भूतल परिवहन के लिए केंद्रीय कैबिनेट मंत्री बने।

भाजपा अध्यक्ष का सफर –

राजनाथ सिंह दो बार बीजेपी के अध्यक्ष रह चुके हैं, जो उप‍लब्धि अभी तक केवल अटल बिहारी वाजपेयी और लाल कृष्‍ण आडवाणी के पास ही थी। 31 दिसंबर 2005 को राजनाथ सिंह पहली बार भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने थे। बाद में इनको दोबारा 23 जनवरी 2013 से 09 जुलाई 2014 तक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का मौका मिला था। बाद में वर्ष 2014 में मोदी लहर में इन्होने लोकसभा लखनऊ से चुनाव लड़ा और जीत हांसिल की और केंद्र में मंत्री बन गए, तब से अभी तक यह केंद्र में अलग – अलग मंत्रालयों के मन्त्री बनते रहते हैं, वर्तमान में यह देश के रक्षामन्त्री हैं।

रोचक जानकारी (Rajnath Singh Biography in Hindi)

  • यह बहुत अच्छे और सीधे स्वाभाव के राजनेता माने जाते हैं।
  • इनको राजनितिक जीवन की काफी अच्छी समझ है।
  • यह देश के लोकप्रिय नेताओं में से एक माने जाते है।
  • यह अटल आडवाणी के ज़माने से बीजेपी ने नेता हैं।
  • राजनीति में इनका काफी अनुभव रहा है।
  • वर्तमान में राजनाथ सिंह, अमित शाह और प्रधानमन्त्री मोदी को बीजेपी का त्रिमूर्ति भी कहा जाता है।
  • पहले की राजनीति में यह उपाधि लोग अटल, आडवाणी और मुरली मनहोर जोशी को दिया करते थे।
  • राजनाथ सिंह ने राजनितिक दुनिया में कई सारे कार्य किये हैं।
  • यह एक हिन्दुत्वादी राजनेता हैं।
  • इन्होने उत्तर प्रदेश से निकल कर देश की राजनीति तक का सफर पूरा किया है।
  • 1 जून 2019 से यह देश के केन्द्रीय रक्षा मंत्री हैं।
  • योगी आदित्यनाथ से इनका काफी अच्छा ताल में है।

Rajnath Singh Biography in Hindi से जुड़ी जानकारी आपको को कैसी लगी ?

Leave a Reply