Fri. Jul 1st, 2022

Irrfan Khan Biography in Hindi – जयपुर, राजस्थान की वादियों में जन्में इरफान खान का जन्म 7 जनवरी 1967 को हुआ था। दुर्भाग्य से आज (29 April 2020) को ही उनकी मृत्यु हो गयी, ये महज 53 साल के थे। कैंसर जैसी बीमारी ने इनको हरा दिया।

इरफान खान भारतीय अभिनेता थे, उन्होंने बॉलीवुड और हॉलीवुड में बेहतरीन अभिनय किया था। इनके पिता का नाम साहबज़ादे यासीन अली खान और माँ का नाम सईदा बेगम।

Irrfan Khan Biography in Hindi

कहा जाता है की इरफान भाई का सिलेक्शन सीके नायडू ट्रॉफी में हो गया था, लेकिन फॅमिली की इजाजत न मिलने के कारण उन्होंने अपना लाइन चेंज कर दिया। इनके पिता शिकार बहुत खेलते थे बचपन में इरफान भाई भी उनके साथ शिकार पर जाया करते थे, इरफान खुद भी राइफल चलाना जानते थे, बताया जाता है की इनके पिता राजस्थान के जयपुर में टायर का बिज़नेस करते थे।

Irrfan Khan Biography in Hindi – इरफान खान (1967-2020)

नाम – इरफान खान
जन्म – 7 जनवरी 1967
गृहनगर – Khajuriya village, टोंक जिला, राजस्थान भारत
वर्तमान घर – मुंबई में ओशिवारा अपार्टमेंट में 5वी मंजिल पर
योग्यता – मास्टर ऑफ़ आर्ट्स (MA), नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा (NSD) दिल्ली
पसंदीदा – पढ़ना और क्रिकेट खेलना
विवाहित स्टेटस – विवाहित (1995)
पत्नी – सुतापा सिकड़ा (Dialogue writer, m. 1995-present)
सन्तान – आर्यन खान और बाबिल खान
Siblings – Brothers- Salman Khan, Imran Khan Sister – Rukhsana Begum
पसंदीदा एक्टर – Philip Seymour Hoffman, Robert De Niro, Al Pacino, Marlon Brando
Favorite Film – The Men (1950)
Debut – Salaam Bombay (1988)
पेशा Profession(s) – Actor, Producer
कुल सम्पति – 344 Crores ($50 Million)
मृत्यु आज (29 April 2020)
मृत्यु का कारण – कैंसर

इन्होंने अपने जीवनकाल में बहुत अच्छी – अच्छी फिल्में की आज पूरा देश उनको याद कर रहा है।

पढाई लिखाई और कैरियर –

पढाई लिखाई और कैरियर के बारे में कहें तो इरफान खान ने आर्ट्स में मास्टर डिग्री हासिल की थी उसके बाद वो नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा (NSD) दिल्ली में एडमिशन लिए थे उसके बाद बॉलीवुड में आये। बताया जाता है की इन्होंने अपने कैरियर में बहुत संघर्ष किये तब जाकर यह इस मुकाम तक पहुंचे। अपने तीस वषों के कैरियर में इन्होंने 50 से अधिक फिल्मों में काम किया यह पहली बार टेलीविजन से अपने कैरियर की शुरुआत की थी।

दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम चाणक्य’, ‘भारत एक खोज’ और ‘चंद्रकांता’ जैसे सुपरहिट धारावाहिकों में भी इन्होंने अपने अभिनय को दर्शाया है। Star Plus TV Channel पर प्रसारित सीरियल डर में ये विलेन के किरदार में नजर आए थे।

इरफान के संघर्ष की कहानी Actor Irrfan Story in Hindi

इरफान खान का नाम उन लोगों में शुमार है जो अपनी किस्मत खुद लिखते है ऐसे लोग ही बाद में दुनिया के लिए एक मिसाल बनते है। इन्होंने हिन्दी सिनेमा में ही नहीं बल्कि हॉलीवुड की फिल्मों में अपनी छाप छोड़ी है। इनके इसी काम से प्रभावित होकर हॉलीवुड के माने अभिनेता टॉम हैंक्स को ये कहने के लिए मजबूर होना पड़ा कि इरफान खान की आंखे भी अभिनय करती थी, बात करते है इनके संघर्षों की।

बताया जाता है की इरफान ने दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में अभिनय के कोर्स एडमिशन ले गए थे तो उनको कुछ सवाल के जबाब देने थे मगर वो उन सवालों के जबाब ठीक से नहीं दे पाए थे बाद में उनको किसी एक्टिंग करने पर वहां एडमिशन मिल गया उसके कुछ ही दिन बाद उनके वालिद का इंतकाल हो गया। ऐसे में उनके लिए वो समय बहुत कठिन था घर की इनकम भी बंद हो गयी थी उनको कुछ सहारा उनकी मिलने वाली स्कॉलरशिप ने दिया। उसके बाद उनकी शादी हो गयी जहां से उनको कुछ राहत मिल जाती थी उसके बाद कोर्स पूरा करने के बाद ये मुंबई आ गए, यहाँ ये कुछ सीरियल में काम किये वर्ष 1988 में पहली फिल्म सलाम बॉम्बे में लेटर राइटिंग के रोल से इरफान ने अपने हिंदी सिनेमा के सफर शुरू किया, लेकिन कामयाबी कोषों थी।

वर्ष 1990 में बनी फिल्म “एक डॉक्टर की मौत” से इरफान ने अपनी पहचान कुछ हद तक ठीक किये उसके बाद उनको काम मिलने शुरू हो गए देखते देखते एक दशक बीत गया पर कुछ स्टारडम नहीं मिला। फिर वर्ष 2003 में इरफ़ान की हासिल फिल्म रिलीज हुई, उसके बाद ही मकबूल आयी इन दोनों मूवी ने इरफ़ान को एक अच्छी सोहरत दिलवाई। जिसके वो बहुत दिनों से हकदार थे, इसके बाद इनके फ़िल्मी कैरियर की गाड़ी तेजी से पटरी पर आने लगी और ये दिन बा दिन फिल्मों की दुनिया में आगे बढ़ते गए और दुनिया में अपना नाम कमाया, आज वो इस दुनिया में नहीं रहे।

Irrfan Khan Personal Life – निजी जीवन

इनके निजी जीवन के बारे में कहें तो कहां जाता है की ये बहुत अच्छे दर्जे के इन्सान थे भारत में माध्यम वर्ग के लोग इनको बहुत ही पसंद करते थे मेरे भी कई दोस्त इनके फैन है मैं स्वयं इनको बहुत लाइक करता हू और इनकी फिल्में भी देखता हू आज हमने अपने हीरो को खो दिया बायोग्राफी लिखते समय उनकी बहुत याद आ रही है पर क्या किया जा सकता है दुनिया में जो भी चीज है उसको एक न एक दिन जाना ही होता है।

इरफान खान की फेमस फिल्में – अंग्रेज़ी मीडियम, जज़्बा, पीकू, द लंच बॉक्स, न्यूयॉर्क, स्लमडॉग मिलियनेयर, देहली 6, मदारी, जुररसिक वर्ल्ड, एसिड फैक्ट्री, पान सिंह तोमर।

Irrfan Khan Biography in Hindi – फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार –

इरफान खान को तीन बार फिल्म फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार और सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेता के तौर पर फिल्‍म ‘पान सिंह तोमर’ के लिए राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार भी मिल चुका है। पद्मश्री सम्‍मान से भी इनको नवाजा जा चूका है। यह एक अलग तरीके से फिल्में करते थे। उन्होने द वारियर, मकबूल, हासिल, द नेमसेक, रोग, अंग्रेजी मेडियम जैसी फिल्मों मे अपने अभिनय से पूरी दुनिया में अपना लोहा मनवाया।

इरफान खान इंस्टाग्राम

Irrfan Khan Biography in Hindi, से जुडी जानकारी कैसी लगी ?

John Abraham Biography in Hindi को भी पढ़ें 

Leave a Reply