Wed. Dec 8th, 2021
inder-kumar-gujral-parichay

Inder Kumar Gujral Ka Jeevan Parichay – इन्द्र कुमार गुजराल भारत के एक बहुचर्चित राजनीतिज्ञ और देश के 12 वें प्रधानमंत्री भी रहे थे, इनका जन्म 4 दिसम्बर 1919 को झेलम, पंजाब (अब पाकिस्तान में है) में हुआ था। इनके माता पिता का नाम पुष्पा गुजराल, अवतार नारायण था। शीला गुजराल इनकी पत्नी हैं। यह वर्ष (1988-98) से जनता दल में रहे थे बाद में इन्होने (1998 से) स्वतंत्र पार्टी ज्वाइन कर ली थी। 30 नवम्बर 2012 को गुरुग्राम, हरियाणा में इनकी मृत्यु हो गयी थी।

Inder Kumar Gujral Ka Jeevan Parichay –

inder kumar gujral

वास्तविक नाम – इन्द्र कुमार गुजराल
जन्म – 4 दिसम्बर 1919 झेलम, पंजाब में
पिता का नाम – अवतार नारायण
माता का नाम – पुष्पा गुजराल
पत्नी का नाम – शीला गुजराल
प्रोफेशन – राजनीतिज्ञ
पद – भारत के पूर्व प्रधानमन्त्री
पार्टी – जनता दल (1988-98)
मृत्यु – 30 नवम्बर 2012 को गुरुग्राम में

गुजराल साहब की अंतिम यात्रा में उस समय के भारत के तात्कालिक राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी पूर्व प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी व अरुण जेटली सहित अनेक हस्तियाँ शामिल हुईं थी।

देश में योग्यदान –

इनके बारे में कहा जाता है की इन्होने भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम में सक्रिय रूप भूमिका निभाई थी। यह 1942  के भारत छोड़ो आंदोलन के समय में जेल भी गये थे। अप्रैल 1997 में इनको भारत का प्रधानमन्त्री बनने का मौका मिला था यह उस समय देश के 12वें प्रधानमन्त्री बने थे। इन्होने अपने राजनितिक जीवन में कई केन्द्रीय मन्त्रिमण्डल में विभिन्न पदों पर काम भी किया। यह संचार मन्त्री, संसदीय कार्य मन्त्री, सूचना प्रसारण मन्त्री, विदेश मन्त्री और आवास मन्त्री भी रहे थे।

राजनीति में आने से पहले गुजराल साहब कुछ समय के लिए बीबीसी में कार्य किया करते थे। बताया जाता है की इन्होने बीबीसी में एक पत्रकार के रूप में भी काम किया था। गुजराल जी की शिक्षा के बारे में बात करें तो इन्होने अपनी शिक्षा डी०ए०वी० कालेज, हैली कॉलेज ऑफ कामर्स और फॉर्मन क्रिश्चियन कॉलेज लाहौर से की थी, बाद में यह युवावस्था में भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन में शरीक हुए और 1942 के “अंग्रेजो भारत छोड़ो” अभियान में जेल भी गये।

रोचक जानकारी –

  • गुजराल साहब हिन्दी, उर्दू और पंजाबी भाषा में निपुण थे।
  • यह शेरो-शायरी में काफी दिलचस्पी रखते थे।
  • इनकी पत्नी शीला गुजराल का निधन इनसे एक साल पहले ही हो गया था।
  • इनके दो बेटे हैं एक नरेश गुजराल और दूसरा बेटा विशाल।
  • इनके छोटे भाई सतीश गुजराल एक विख्यात चित्रकार तथा वास्तुकार भी है।
  • छाती में संक्रमण के कारण इनकी मृत्यु हुई थी।
  • इनकी मृत्यु की सूचना मिलने के बाद लोक सभा व राज्य सभा स्थगित हो गयी थी।

Inder Kumar Gujral Ka Jeevan Parichay से जुड़ी जानकारी आपको कैसी लगी?

Leave a Reply