Mon. Sep 20th, 2021
martin luther bio

इस बायोग्राफी लेख में आपको यूनाइटेड स्टेट ऑफ़ अमेरिका के गाँधी कहे जाने वाले पादरी, आन्दोलनकारी (ऐक्टिविस्ट) एवं अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक अधिकारों के संघर्ष के प्रमुख नेता डॉ॰ मार्टिन लूथर किंग, जूनियर की जीवनी के बारे में पढ़ने को मिलेगा, चलिए जानतें हैं कि कौन थे मार्टिन लूथर ?

Martin Luther King Jr Biography in Hindi – सामान्य परिचय

martin luther biography

डॉ॰ मार्टिन लूथर किंग, जूनियर का जन्म सन्‌ 1929 में अट्लांटा, अमेरिका में हुआ था, यह पादरी, आन्दोलनकारी (ऐक्टिविस्ट) एवं अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक थे। इनको अमेरिका का गांधी भी कहा जाता है, बताया जाता है कि इनके प्रयासों से ही अमेरिका में नागरिक अधिकारों के क्षेत्र में प्रगति हुई थी। इसलिए आज इनको मानव अधिकारों के प्रतीक के रूप में भी देखा जाता है। अमेरिका के दो चर्चों ने इनको एक महान सन्त के रूप में भी मान्यता प्रदान की है।

इनके बारे में कहा जाता है की इन्होने संयुक्त राज्य अमेरिका में नीग्रो समुदाय के प्रति होने वाले भेदभाव के विरुद्ध सफल अहिंसात्मक आंदोलन चलाया था। वर्ष 1955 का वर्ष इनकी जिन्दगी का एक निर्णायक मोड़ था, जिसमे इसी वर्ष कोरेटा नामक महिला से इनका विवाह हुआ, इसके बाद इनको दक्षिणी प्रांत अल्बामा के मांटगोमरी शहर में डेक्सटर एवेन्यू बॅपटिस्ट चर्च में बुलाया गया जिसमे इन्होने काफी समय तक प्रवचन दिया था। इसी साल मॉटगोमरी की सार्वजनिक बसों में काले-गोरे के भेद के विरुद्ध एक महिला श्रीमती रोज पार्क्स ने गिरफ्तारी दी। जिसके बाद मार्टिन लूथर ने इसके लिए भी आंदोलन चलाया था।

वास्तविक नाम – डॉ॰ मार्टिन लूथर किंग, जूनियर
प्रचलित नाम – मार्टिन लूथर
जन्म – सन्‌ 1929 में अट्लांटा, अमेरिका में
नीग्रो समुदाय के प्रति भेदभाव के लिए आंदोलन किये थे।
कोरेटा नामक महिला से विवाह
मृत्यु – 4 अप्रैल 1968 को (गोली मारकर हत्या)

मार्टिन लूथर द्वारा चलाये गए मुख्य नागरिक अधिकार आन्दोलन –

मोंटगोमरी बस बॉयकोट –
दक्षिणी ईसाई नेतृत्व सम्मेलन –
बर्मिंघम अभियान, 1963 – 1959 में –
वाशिंगटन मार्च 1963 –
शिकागो यात्रा –

रोचक जानकारी –

  • इनको 1964 में विश्व शांति के लिए सबसे कम उम्र में नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया था।
  • इनको कई अमरीकी यूनिवर्सिटी से मानद उपाधियाँ मिली हैं।
  • विश्व की मशहूर ‘टाइम’ पत्रिका ने भी इनको 1963 का ‘मैन ऑफ द इयर’ चुना था।
  • मार्टिन लूथर हमेशा से गांधीजी के अहिंसक आंदोलन से बेहद प्रभावित थे।
  • गांधीजी के आदर्शों से प्रभावित होकर इन्होने भी अपने आंदोलनों में काफी सफलता पायी थी।
  • सन्‌ 1959 में मार्टिन लूथर ने भारत की यात्रा की थी।
  •  ‘स्ट्राइड टुवर्ड फ्रीडम’ (1958) तथा ‘व्हाय वी कैन नॉट वेट’ (1964) इनकी लिखी दो पुस्तकें हैं।
  • बताया जाता है कि 4 अप्रैल 1968 को मार्टिन लूथर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, यह घटना विल्कुल गाँधी जी जैसी ही थी।
  • यह अमेरिकन इतिहास में गाँधी थे।
  • आज भी इनके जन्म दिवस पर अमेरिकन लोग इनको याद करते हैं।
  • इन्होने अपने जीवन में कई आंदोलन किये थे जो काफी सफल भी रहा था।

Martin Luther King Jr Biography in Hindi से जुड़ी जानकारी आपको कैसी लगी ?

इनकी जीवनी भी पढ़ें –

तिब्बती गुरु दलाईलामा की जीवनी
महात्मा गाँधी की जीवनी
नेल्सन मंडेला का जीवन परिचय

Leave a Reply