Sat. Jul 2nd, 2022

Madhubala Biography in Hindi – मधुबाला के बारे में बात करें तो यह हिंदी सिनेमा की सबसे पुरानी और प्रसिद्ध अभिनेत्री में से एक थी। कहा जाता है की इन्होंने हिंदी सिनेमा को सवारने में अपना पूरा जीवन लगा दिया था। फिल्म ‘मुग़ल ए आज़म’ में अनारकली का रोल करके इन्होंने लोगों के लिए में एक अच्छा मुकाम बनाया था। मधुबाला ने भारतीय सिनेमा में वर्ष 1942 से 1960 के बीच अच्छा काम किया इस बीच इन्होंने एक से बढ़कर एक फिल्में की जिसके बारे में लोग आज भी चर्चा करते है। अभिनय के साथ लोगों में इनकी सुंदरता को लेकर भी अच्छे बिचार थे यह बहुत सुन्दर अभिनेत्री थी।

मधुबाला को उनकी जिंदगी और अभी अभिनय के लिए ‘वीनस ऑफ़ इंडियन सिनेमा’ तथा ‘द ब्यूटी ऑफ़ ट्रेजेडी’ जैसे नामों की उपमा दी गयी थी। इन्होंने महल, अमर, मि. एंड मिस 55, बरसात की रात, मुग़ल ए आज़म जैसी फ़िल्मों में दमदार भूमिका निभाई थी।

मधुबाला की जीवनी – Madhubala Biography in Hindi

Madhubala Biography in Hindi

Imagesource – amarujala

मधुबाला का जन्म 14 फरवरी 1933 भारत की राजधानी दिल्ली में एक पश्तून मुस्लिम परिवार मे हुआ था। बचपन में इनका नाम मुमताज़ जेहान देहलवी था, फ़िल्म ‘नील कमल’ के बाद इनका नाम मुमताज से मधुबाला पढ़ गया था। पिता का नाम अताउल्लाह खान तथा वालिदैन का नाम आयशा बेग़म था। इनके वालिद तात्कालिक पकिस्तान के खैबर पखतून्ख्वा के रहने वाले थे, इनके पिता की 11 संतान थी जिसमे से मधुबाला पांचवे स्थान पर थी। बताया जाता है की इनके पिता एक तम्बाकू फैक्ट्री में काम करते थे, नौकरी छूट जाने के बाद इनके पिता मुंबई चले गए थे जहाँ मधुबाला ने जन्म लिया।

बताया जाता है की वर्ष 1944 में होने वाले ‘डॉक एक्सप्लोजन’ में मधुबाला के तीन बहने और दो भाई मारे गए थे, घर के बाकि लोग लोकल सिनेमा देखने गए थे इसलिए बच गए। यह समय इनके परिवार के लिए बहुत दुःख का समय था। इसके बाद जीवन जीने के लिए आगे कुछ करना था इसलिए मधुबाला की पिताजी उनकों 9 वर्ष की आयु से ही बॉम्बे के विभिन्न फ़िल्म स्टूडियो में लेकर जाने लगे. मुमताज़ को काम भी मिलने लगा जिससे उनके गरीबी की दिन छटने लगे।

Madhubala Biography in Hindi – संछिप्त जीवन 

नाम – मुमताज उर्फ़ मधुबाला
बचपन का नाम – मुमताज़ जेहान देहलवी
जन्म – 14 फरवरी 1933 भारत
जन्म स्थान – दिल्ली
पिता का नाम – अताउल्लाह खान
माता का नाम – आयशा बेग़म
जीवनसाथी – किशोर कुमार
बालीवुड में उनका प्रवेश ‘बेबी मुमताज़’ के नाम से हुआ।
भाई बहन – 11
घर आवास – मुंबई, भारत
मृत्यु – 23 फरवरी 1969

मधुबाला का शुरूआती कैरियर – (Madhubala Career)

Madhubala Biography in Hindi – 9 साल की उम्र से ही मधुबाला फिल्मों में काम करने लगी थी, इनकी पहली सफल फिल्म वर्ष 1942 में आई बसंत थी। यह मूवी बहुत सफल रही, यहीं से लोग इनको जानने लगे थे। अभिनेत्री देविका रानी (उस समय की मशहूर अभिनेत्री) भी इनके अभिनय से बहुत खुश हुई थी। वर्ष 1947 में आई फ़िल्म ‘नील कमल’ में महज़ 14 साल की उम्र में मधुबाला को राज कपूर के साथ कास्ट किया गया।

इनके फ़िल्मी कैरियर में अच्छा समय वर्ष 1949 के दौरान आया जब इनकी बॉम्बे टॉकीज बैनर तले ‘महल’ मूवी आयी। पहले इसमें मशहूर अभिनेत्री सुरैया को चुना गया था, किन्तु स्क्रीनटेस्ट के दौरान फिल्म निर्देशक कमाल अमरोही ने मधुबाला को ही चुना था। यह फिल्म उस साल की तीसरी सबसे सफल फिल्म मानी गयी। इसके बाद मधुबाला ने दुलारी, बेक़सूर, तराना तथा बादल आदि फ़िल्में एक के बाद एक ताबड़तोड़ अभिनय किया।

मधुबाला ने उस समय के मशहूर अभिनेता अशोक कुमार, राजकुमार, रहमान, दिलीप कुमार, सुनील दत्त, शम्मी कपूर, देव आनंद आदि के साथ काम किया, उसी समय इन्होंने फेमस हीरोइनों मसलन गीता बाली, सुरैया, निम्मी के साथ भी काम किया। वर्ष 1955 में मधुबाला फ़िल्म ‘नाता’ तथा वर्ष 1960 में फिल्म ‘महलों के ख्वाब’ की निर्माता रहीं. इन्होने फ़िल्म ‘महलों के ख्वाब’ में निर्माता के साथ अदाकारी का भी कार्य किया।

वर्ष 1950 तक इन्होंने सभी तरह की फिल्मों में अपना अभिनय विखेरा लोग इनके काम को खूब सराहने लगे थे। इसी वर्ष आयी फिल्म ‘हँसते आंसू’ ऐसी मूवी बनी जिसने पहली बार भारतीय फ़िल्म बोर्ड द्वारा A सर्टिफिकेट दिलवाया। वर्ष1956 मे मधुबाला दो कॉस्टयूम ड्रामा जेनर की फ़िल्में की, (शीरीं- फरहाद’ तथा ‘राज- हथ’) इसके बाद एक सोशल ड्रामा ‘कल हमारा है’ भी किया था।

वर्ष 1954 में महबूब खान द्वारा निर्देशित फ़िल्म ‘अमर’ भी इनके लिए बहुत बड़ी मूवी साबित हुई, गुरुदत की फ़िल्म ‘हावड़ा ब्रिज’ भी बहुत अच्छी रही, इस फ़िल्म में मधुबाला एक एंग्लो- इंडियन कारबेट गायिका की भूमिका में नजर आयी थी। गीत ‘आइये मेहरबाँ’ इसी फिल्म का गाना था जो आज भी लोगों की जुबान पर रहता है।

मधुबाला मुग़ल-ए-आज़म में (Madhubala film mughal-e-Azam) –

मुग़ल-ए-आज़म इनके जीवन की सबसे बड़ी और सफल मूवी मानी जाती है। इस फिल्म ने सभी रिकॉर्ड बनाये थे इसमें काम करना मधुबाला के जीवन का बहुत अच्छा समय था, इन्होंने इस फिल्म में जीजान लगाकर काम किया था इनके इस अभिनय को लोग आज भी याद करते है। इस फ़िल्म के बनने के दौरान मधुबाला का स्वास्थ लगातार बिगड़ रहा था, कहा जाता है की शूटिंग के दौरान लगातार जंजीरों में लम्बे समय तक बंधा रहना पड़ता था, जिसकी वजह से उनके स्वास्थ में लगातार गिरावट होने लगी थी। फिर भी इनके काम में कोई रुकावट नहीं आती थी।

साल 1960 में 10 साल की मेहनत के बाद ये फ़िल्म बनी और दुनिया के सामने आयी इसने लगभग 15 साल तक रिकॉर्ड बनाये इन 14 वर्ष में बहुत लोगों की फिल्म आयी मगर इसको पीछे न कर सकी वर्ष 1975 में अमिताभ बच्चन की आई फ़िल्म ‘शोले’ एक ऐसी फ़िल्म बनी जो ये रिकॉर्ड छूने में कामयाब हो सकी। इसी दौरान इनके और दिलीप कुमार के रिश्तो में कडवाहट भी दुनिया के सामने आने लगी थी।

इनके बारे में भी जाने : नीता अम्बानी का जीवन परिचय

दिलीप कुमार और मधुबाला की प्रेम कहानी (Madhubala and Dilip Kumar)

दिलीप और मधुबाला की पहली मुलाकात वर्ष 1944 में बन रही फ़िल्म ‘ज्वार भाटा’ के सेट हुई थी। इनके रिश्ते की शुरुआत फ़िल्म ‘तराना’ से मानी जाती है। धीरे – धीरे इनके रिश्ते मजबूत हो रहे थे ये लोग एक दूसरे के पर्व में शामिल होने लगे थे मगर मधुबाला में पिता को यह सब कुछ अच्छा नहीं लग रहा था। पिता की के मना करने पर मधुबाला में इस रिस्ते को धीरे – धीरे ख़त्म कर दिया।

बाद में मधुबाला की शादी वर्ष 1960 में किशोर कुमार के साथ हुई। इसके लिए किशोर कुमार ने इस्लाम धर्म कबूल कर लिया अपने नाम के आगे करीम अब्दुल लगा दिया, परन्तु इस शादी को मधुबाला स्वीकार नहीं कर पा रही थी, किन्तु अस्वीकार भी नहीं कर सकी, इसी समय इनको एक भयंकर रोग हो गया, किशोर कुमार इस बात को जानते थे, किन्तु किसी को भी इस बीमारी की गहराई का अंदाजा नहीं था। इलाज के लिए दोनों जाने लंदन गए थे। वहां डॉक्टर लोग उनका चेकउप करके बताया की अब यह केवल 2 साल तक ही जीवित रह सकती है। इसके बाद किशोर कुमार ने मधुबाला को यह कहकर उनके माईके छोड़ दिए थे की वो काम में बहुत ब्यस्त रहते है।

मधुबाला की मृत्यु (Madhubala Death) – Madhubala Biography in Hindi

बहुत इलाज और डॉक्टर की जाँच में पाया गया की इनके दिल में एक छेद है, यह जानकारी इन्होंने सिनेमा जगत से छुपाकर रखी थी। इस बीमारी से उनके बदन में खून की मात्रा बढ़ती जा रही थी और ये अतिरिक्त खून उनकी नाक और मुँह से बाहर आने लगता था, डॉक्टर भी इस रोग के आगे हार गये, थे, उन लोगों ने बताया था अब ये ज्यादा दिन जीवित नहीं रह पायेगी वर्ष 23 फरवरी 1969 को अपना 36वाँ जन्मदिन मानाने के 9 दिन बाद ही इनकी मृत्यु हो गयी थी।

मुमताज उर्फ़ मधुबाला के जीवन की अच्छी मूवी – बसंत, मुमताज़ महल, नील कमल, लाल दुपट्टा, अमर प्रेम, दुलारी, मधुबाला, हँसते आंसू, बेक़सूर, तराना और सैयां

Madhubala Wikipedia Link (English)

Madhubala Biography in Hindi – मधुबाला का जीवन परिचय (जीवनी) से जुडी यह जानकारी आप को कैसी लगी ?

Leave a Reply