Fri. Jul 1st, 2022
Jyotiraditya Scindia Biography

इंडिया बायोग्राफी ब्लॉग में आप का स्वागत है, आज आप इस ब्लॉग पोस्ट में भारत के मशहूर राजघराने के राजा महाराजा के खानदान से जुड़े नेता ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया के जीवन परिचय (Jyotiraditya Scindia Biography Hindi) के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे तो चलिए जानतें है की कौन हैं ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया? (Jyotiraditya Scindia Biography in hindi, Political Career, Age, Caste, Family History, News, Children)

जीवन परिचय –

Jyotiraditya Scindia Biography in hindi

ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया भारत के एक मशहूर राजनीतिज्ञ हैं, इनका जन्म 1 जनवरी 1971 को बॉम्बे वर्तमान में मुम्बई स्थित कुर्मि मराठा परिवार में हुआ था। यह कई वर्षों तक कांग्रेस पार्टी में रहे थे, बाद में इन्होने बीजेपी ज्वाइन कर लिया वर्तमान में यह बीजेपी में ही हैं, इनका गृहनगर ग्वालियर, मध्य प्रदेश में है, यह राजा के परिवार में पैदा हुए थे। इनके पिता का नाम माधवराव सिंधिया और माता का नाम माधवी राजे सिंधिया है, चित्रांगदा राजे सिंधिया इनकी बहन हैं, प्रियदर्शनी राजे सिंधिया इनकी पत्नी हैं, महानारयमन सिंधिया एवं अनन्या सिंधिया इनकी संताने हैं।

Jyotiraditya Scindia Biography Hindi – संछिप्त परिचय

वास्तविक नाम – ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया
जन्म – 1 जनवरी 1971 को महाराष्ट्र, भारत में
माता / पिता – माधवराव सिंधिया और माधवी राजे सिंधिया
बहन – चित्रांगदा राजे सिंधिया
पत्नी – प्रियदर्शनी राजे सिंधिया
बेटा / बेटी – महानारयमन सिंधिया एवं अनन्या सिंधिया
प्रोफेशन – राजनीतिज्ञ
पार्टी – बीजेपी
पूर्व पार्टी – कांग्रेस
वर्तमान में आयु – 50 वर्ष
गृहनगर – ग्वालियर, मध्य प्रदेश
धर्म (Religion) – हिन्दू
जाति (Caste) – क्षत्रिय
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) – विवाहित
राशि (Zodiac Sign) – मकर
शैक्षिक योग्यता (Education) – एमबीए
लम्बाई (Height) – (लगभग) से० मी०- 168
वजन/भार (Weight) – (लगभग) 72 kg
आँखों का रंग (Eye Colour) – काला
बालों का रंग (Hairs Colour) – काला

ज्योतिरादित्य सिंधिया जी शिक्षा

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मुम्बई के कैंपियन स्कूल एवं दून स्कूल में पूरा किया था। बाद में इन्होने स्नातक की शिक्षा को पूरा करके हार्वर्ड विश्वविद्यालय की तरफ रुख किया था जहाँ इन्होने अर्थशास्त्र विषय से अपनी स्थानक की डिग्री को हासिल किया था। परिवार से राजघराने के होने के नाते इन्होने पढ़ाई को उच्च स्तर तक ले जाने का विचार किया था। इन्होने स्टैनफोर्ड ग्रेजुएशन स्कूल आफ बिजनेस से अपनी एमबीए की पढ़ाई को पूरा किया था। यह अपने ज़माने के एक अच्छे स्तर के विद्यार्थी भी रह चुके हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया का पारिवारिक जानकारी

ज्योतिरादित्य सिंधिया के परिवार में सबसे पहले इनकी दादी ने अपने राजनीतिक कैरियर की शुरुआत कांग्रेस पार्टी से की थी, तब इन्होने वर्ष 1957 में गुना क्षेत्र से लोकसभा सांसद के लिए चुनाव लड़ा था, इसमें वह विजय होकर संसद भी पहुंची थीं। इसके बावजूद भी विजय राजे यानी की ज्योतिरादित्य सिंधिया जी की दादी चाहती थी, कि उनके सभी परिवार के लोग भाजपा की तरफ से चुनाव लड़े।

लेकिन माधवराव सिंधिया और उनके पुत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया जी ने हमेशा से कांग्रेस की तरह से ही चुनाव लड़ा और जीते भी बहुत जामने बाद अब जाकर ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी में आये वर्ष 1971 में पूरे भारतवर्ष में इंदिरा गांधी का बोलबाला था, तब विजयराजे सिंधिया ने जनसंघ से गुना क्षेत्र से लोकसभा सीट के लिए चुनाव लड़ा था उनको यहाँ से 3 सीटों के साथ विजय मिली थी। फिलहाल यह नेताजी बीजेपी में हैं।

ज्योतिरादित्य का राजनैतिक कैरियर –

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने राजनैतिक कैरियर की शुरुआत पिता की मृत्यु के बाद की थी, वर्ष 2002 में अचानक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में इनके पिता माधवराव सिंधिया का स्वर्गवास हो गया था, तभी से ज्योतिरादित्य सिंधिया जी ने अपने पिता जी के संसदीय क्षेत्र गुना से उनके स्थान पर चुनाव लड़ने लगे और हमेशा जीते आये है, गुना क्षेत्र सिंधिया परिवार का बहुत मजबूत क्षेत्र रहा है, यही कारण है यह हमेशा यहाँ से जीतते आये है। वर्ष 2002 में इनको लोकसभा चुनाव में बहुत ही भारी मतों से विजय प्राप्त हुई थी। इनको वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में पराजय का मुंह भी देखना पड़ा था।

रोचक जानकारी –

  • 10 मार्च 2020 को ज्योतिरादित्य ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था, उस समय कुल 22 सदस्यों ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था।
  • वर्ष 2020 में सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी को ज्वाइन कर लिया था।
  • नवम्बर 2020 में मध्यप्रदेश उपचुनाव आया फिर से बम्बर वोटों से विजयी हुए।
  • कमलनाथ की सरकार के खिलाफ सड़कों पर धरना प्रदर्शन भी किया था सिंधिया ने।
  • वर्ष 2013 में सिंधिया ने मध्य प्रदेश से अभियान समिति के प्रमुख के रूप में चुने गए थे।
  • यह वर्ष 2012 में विद्युत राज्यमंत्री के रूप में उभर के सामने आए थे।
  • वर्ष 2009 में सिंधिया जी को वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री के रूप में भी चुना गया था।
  • वर्ष 2007 में यह केंद्रीय संचार और सूचना प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री के रूप में भी कार्य किये हैं।
  • वर्ष 2002 में सिंधिया अपने पिता की मृत्यु के बाद गुना क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़े थे।
  • राहुल गाँधी इनके साथी भी हैं।

Jyotiraditya Scindia Biography Hindi से जुड़ी जानकारी आपको कैसी लगी?

Leave a Reply