Fri. Jul 1st, 2022

Dilip Vengsarkar Biography in Hindi – दिलीप वेंगसरकर क्रिकेट की दुनिया के एक अच्छे और महान खिलाडी थे, वर्ष 1983 का वो सुनहरा पल जब भारत ने विश्वकप जीता था तब यह इंडियन क्रिकेट टीम का हिस्सा थे और वर्ल्डकप जितने में अपनी भूमिका निभाई थी। तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले दिलीप ने एक दशक से ज्यादा समय तक भारतीय क्रिकेट टीम  में  रहे। क्रिकेट की दुनिया में अच्छे बल्लेबाजी के लिए काफी मशहूर भी हुए।

दिलीप वेंगसरकर ने उस समय जबर्दस्त सुर्खिया बटोरी जब उन्होंने 1975 में ईरानी ट्रॉफी में मुंबई की तरफ से खेलते हुए 110 रन बनाये थे। इस मैच में इन्होंने बिशन सिंह बेदी और इरापली प्रसन्ना जैसे गेंदबाजों की जमकर धुनाई की थी। उस समय ये दोनों गेदबाज बहुत ही पॉपुलर हुआ करते थे।

Dilip Vengsarkar Biography in Hindi – संछिप्त परिचय

Dilip Vengsarkar Biography in Hindi

दिलीप वेंगसरकर का जन्म 6 April 1956 (age 64) राजपुर, मुंबई, भारत में हुआ था, 70 से 80 के दशक में इन्होंने क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन किया।

  • नाम – दिलीप वेंगसरकर
  • उपनाम – कर्नल
  • जन्म – 6 April 1956
  • जन्म स्थान – राजपुर, मुंबई, भारत
  • बल्लेबाजी – राइट हैंड
  • बॉलिंग – राइट हैंड बैटमेन
  • पहला मैच (ODI) – 21 February 1976 v New Zealand
  • पहला टेस्ट मैच – 24 January 1976 v New Zealand
  • अंतिम टेस्ट मैच – 5 February 1992 v Australia
  • अंतिम वनडे – 14 November 1991 v South Africa

बताया जाता है की वर्ष 1994 में मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में मुम्बई और पंजाब के बीच मैच चल रहा था, उस समय दिलीप क्रिकेट से सन्यास ले चुके थे और मैच देखें आये थे, इसी बीच मैच में कुछ दर्शक लोग उनको परेशान करने लगे थे जिसकी वजह से वो इतने गुस्से में हो गए थे की कूद कर एक लोग को थपड भी मार दिया था।

वर्ष 1993 में विश्वकप जीतने वाली टीम का हिस्सा रहे वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) को उनके अच्छे खेल के बाद वर्ष 1987 में इंडिया टीम की कप्तानी मिल गयी, टेस्ट मैचो में 17 शतक जड़ने वाले वेंगसरकर को 1987 में Wisdon Cricketer of the Year से भी सम्मानित किया जा चूका है, वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने केवल 10 मैचो में ही भारत की कप्तानी की थी।

दिलीप ने वर्ष 1992 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला अपने कैरियर में दिलीप ने कुल 116 टेस्ट मैच खेले और 42.13 की औसत से 6868 रन बनाये। इनको कई सारे पुरस्कार और सम्मान भी मिले।

Dilip Vengsarkar Awards – (Dilip Vengsarkar Biography in Hindi)

  • वर्ष 1981 में दिलीप वेंगसरकर को अर्जुन अवार्ड मिला था।
  • क्रिकेट में अच्छे योग्यदान के लिए भारत सरकार ने इनको वर्ष १९८७ में पद्म श्री अवार्ड से भी सम्मानित किया है।
  • BCCI की तरफ से दिलीप को CK Naidu Lifetime Achievement award भी मिला था।

Dilip Vengsarkar Retirement Life –

क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद दिलीप ने अपनी क्रिकेट अकादमी (1995) खोली जिसका नाम Elf-Vengsarkar Academy है, दिलीप आजकल इसी में ब्यस्त रहते है। दिलीप ने क्रिकेट की दुनिया में और भी बहुत सारे काम किये है जिनके बारे में आप को मालूम होगा।

दिलीप वेंगसरकर से जुडी रोचक जानकारी  –

  • वर्ष 2003 में Mumbai Cricket Association द्वारा दिलीप को Vice-President के पद पर चुना गया था।
  • मार्च 2006 में BCCI ने दिलीप का नाम रेफरी के लिए भी चुना था, मगर इन्होंने इसको लिया नहीं मना कर दिया था।
  • वर्ष 2002 में दिलीप वेंगसरकर को Talent Resource Development Wing (TRDW) का चैयरमेन भी चुना गया था।
  • अपने जमाने के अच्छे बल्लेबाज थे दिलीप वेंगसरकर।
  • दिलीप वेंगसरकर अब क्रिकेट नहीं खेलते है मगर लोगों को क्रिकेट की ट्रेनिंग देते है उनका क्रिकेट अकादमी भी है जैसा आप ने ऊपर पढ़ा होगा।

Dilip Vengsarkar Biography in Hindi, से जुडी जानकारी कैसी लगी ?

इनके बारे में भी पढ़े –

MS Dhoni Biography in Hindi
Cricketer Virender Sehwag Biography

Leave a Reply