Mon. Sep 20th, 2021

Azim Premji Biography in Hindi – भारत के मशहूर उद्योगपति और बिप्रो के अध्यक्ष अजीम प्रेमजी का जन्म 24 जुलाई 1945 को मुंबई के एक निजारी इस्लामी शिया मुस्लिम परिवार में हुआ था, इनके पूर्वज मुख्य्तः गुजरात के निवासी थे। इनके पिताजी एक बड़े ब्यापारी थे, जिनको लोग ‘राइस किंग ऑफ़ बर्मा’ के नाम से जानतें थे। भारत के विभाजन के बाद जिन्नाह ने उनके पिता को पाकिस्तान आने का न्योता दिया था पर इनके पिता ने उनकी बात को ठुकराकर भारत में ही रहने का फैसला किया था।

सन 1945 में अजीम प्रेमजी के पिताजी मुहम्मद हाशिम प्रेमजी ने महाराष्ट्र के जलगाँव जिले में ‘वेस्टर्न इंडियन वेजिटेबल प्रोडक्ट्स लिमिटेड’ की स्थापना की, यह कंपनी ‘सनफ्लावर वनस्पति’ और कपड़े धोने के साबुन जैसी चीजों का निर्माण करती थी। अजीम प्रेमजी के पिता ने इनको इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए उन्हें दुनिया के मशहूर देश अमेरिका के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय भेजा था, मगर बीच उनके पिता की मौत हो गयी जिसकी वजह से अजीम ने पढाई को बीच में ही छोड़कर भारत आना पड़ा। उस समय अजीम प्रेमजी की उम्र महज २१ साल ही थी।

पिता की मृत्यु के बाद अजीम प्रेमजी ने कारोबार को संभाला, वर्ष 1980 में युवा अजीम प्रेमजी ने उभरते हुए इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के महत्त्व को पहचाना और अपनी कंपनी का नाम बदलकर बिप्रो कर दिया। उसी समय आई.बी.एम. के निष्कासन से देश में ऐसा लग रहा था की अब आई.टी. क्षेत्र में एक खालीपन आ गया है, जिसका फायदा प्रेमजी ने भरपूर उठाया, अजीम ने उस समय अमेरिका की एक कंपनी सेंटिनल कंप्यूटर कारपोरेशन के साथ मिलकर मिनी-कंप्यूटर बनाना प्रारंभ कर दिया। इस प्रकार अजीम प्रेमजी ने साबुन के स्थान पर आई.टी. सेक्टर पर ध्यान केन्द्रित किया और इस सेक्टर में एक प्रतिष्ठित कंपनी बनकर उभरे।

Azim Premji Biography in Hindi – संछिप्त परिचय

Azim Premji Biography in Hindi

  • वास्तविक नाम – अजीम हाशिम प्रेमजी
  • जन्म – 24 जुलाई 1945
  • जन्म स्थान – मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
  • प्रोफेशन – बिजनेसमैन
  • कंपनी – बिप्रो
  • पिता का नाम – मुहम्मद हाशिम प्रेमजी
  • पिता की कंपनी का नाम – ‘वेस्टर्न इंडियन वेजिटेबल प्रोडक्ट्स लिमिटेड’
  • वैवाहिक स्थिति – विवाहित
  • पत्नी का नाम – यास्मीन
  • संतान – रिषद और तारिक
  • देश में स्कूली शिक्षा में सुधार के लिए लगभग 2 अरब डॉलर दान देने का वचन दिए है।
  • 2001 में ‘अजीम प्रेमजी फाउंडेशन’ की स्थापना
  • azim premji net worth – $660 Cr. (USD)
  • भारतीय रुपया में कुल सम्पति – Rs 1,17,100 Cr.
  • भारत के दूसरे और तीसरे सबसे बड़े बिजनेसमैन है अजीम प्रेमजी

वर्तमान में अजीम प्रेमजी भारत के एक बड़े उद्योगपति, निवेशक और सॉफ्टवेयर कंपनी बिप्रो के अध्यक्ष है, यह भारत के सबसे धनि ब्यक्तियों में से एक है, वर्ष 1999 से लेकर 2005 तक यह भारत के सबसे आमिर ब्यक्ति भी रह चुके है। यह एक लोकोपकारी ब्यक्तित्व वाले इंसान भी है, इन्होने अपने धन का आधे से ज्यादा हिस्सा दान देने का भी निश्चय किया है। एसवीक मैगज़ीन ने इनको दुनिया के टॉप 20 प्रभावशाली ब्यक्तियों में शामिल किया है, इनको टाइम मैगज़ीन ने दो बार दुनिया के टॉप 100 प्रभावशाली बिजनेसमैन के रूप में शामिल कर चुकी है।

अजीम प्रेमजी ने अपने नेतृत्व में बिप्रो कंपनी को बहुत आगे ले गए है, इन्होने कंपनी के कारोबार को 2.5 मिलियन डॉलर से बढाकर 7 बिलियन डॉलर तक कर दिया है। आज के समय में बिप्रो को दुनिया की सबसे टॉप सॉफ्टवेयर आईटी कंपनी माना जाता है, फाॅर्स मैगज़ीन ने भी इनको दुनिया के सबसे आमिर ब्यक्तियों की सूचि में रखा है, इनको भारत का बिल ग्रेट्स का खिताब भी मिल चूका है।

लोककल्याणकारी कार्य –

वर्ष 2001 में अजीम प्रेमजी ने ‘अजीम प्रेमजी फाउंडेशन’ की स्थापना की थी, यह एक गैर लाभकारी संगठन है जिसका लक्ष्य है गुणवत्तायुक्त सार्वभौमिक शिक्षा को बढ़ावा देना है, यह संगठन आज भी भारत के लगभग 13 लाख सरकारी स्कूलों में प्राथमिक शिक्षा के क्षेत्र में प्रगति के लिए काम करता है। यह संगठन आज कर्नाटक, उत्तराखंड, राजस्थान, छत्तीसगढ़, पांडिचेरी, आंध्र प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश की सरकारों के साथ मिलकर कार्य कर रहा है। वर्ष 2010 में, अजीम प्रेमजी ने देश में स्कूली शिक्षा में सुधार के लिए लगभग 2 अरब डॉलर दान देने का वचन दिया था। भारत में आजतक का यह सबसे बड़ा दान माना जाता है, कर्नाटक विधान सभा के अधिनियम के तहत अजीम प्रेमजी के नाम से एक यूनिवर्सिटी की स्थापना भी हुई है।

पुरस्कार और सम्मान –

अजीम प्रेमजी को अभी तक कई सारे पुरस्कार और सम्मान प्राप्त हो चुके है, जिनके बारे में जानकारी आप नीचे जान सकते है। बिज़नेस की दुनिया में अजीम प्रेमजी को एक महानतम उद्यमियों में से एक कहा गया है।

  • वर्ष 2000 में मणिपाल अकादमी ने अजीम प्रजी को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया था।
  • वर्ष 2005 में भारत सरकार ने अजीम प्रजी को पद्म भूषण से सम्मानित किया था।
  • वर्ष 2006 में ‘राष्ट्रीय औद्योगिक इंजीनियरिंग संस्थान, मुंबई, द्वारा प्रजी को लक्ष्य बिज़नेस विजनरी से सम्मानित किया गया।
  • वर्ष 2011 में इनको देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान ‘पद्म विभूषण’ से सम्मानित किया गया था।
  • वर्ष 2013 में अजीम को ‘इकनोमिक टाइम्स अचीवमेंट अवार्ड’ दिया गया था।
  • वर्ष 2015 में मैसोर विश्वविद्यालय ने अजीम प्रेमजी को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया था।

अजीम प्रेमजी से जुडी रोचक जानकारी – (Azim Premji Biography in Hindi)

  • वर्ष 1980 में अजीम प्रेमजी आईटी की दुनिया में अपना कदम रखे थे।
  • वर्ष 1982 में इन्होने अपनी कंपनी का नाम ‘विप्रो प्रोडक्ट्स लिमिटेड’ से बदलकर ‘विप्रो लिमिटेड’ कर दिया था।
  • अजीम प्रेमजी वर्ष 1999 से 2005 तक भारत के सबसे धनी ब्यक्ति रहे।
  • वर्तमान में यह भारत के एक अच्छे बिजनेसमैन है।
  • यह एक लोकोपयोगी ब्यक्ति है, लोक कल्याणकारी काम हमेशा करते है, कई फाउंडेशन को यह दान भी करते है अजीम प्रेमजी।

Azim Premji Biography in Hindi से जुडी जानकारी आपको कैसी लगी?

इनका जीवन परिचय भी पढ़ें

भारत के सबसे आमिर उद्योगपति मुकेश अंबानी का जीवन परिचय
उद्योगपति सुनील मित्तल की जीवनी
उद्योगपति गौतम अडानी का जीवन परिचय

Leave a Reply