Fri. Jul 1st, 2022

Arvind Kejariwal Hindi (Biography) – धरना प्रदर्शन, जनलोकपाल आंदोलन और कई तरह के विवादों में रहने वाले अरविन्द केजरीवाल आज देश की राजधानी दिल्ली में मुख़्यमंत्री है, इनका राजनितिक उदय अन्ना हजारे के आंदोलन के बाद हुआ था, तब से अब तक इन्होने कई सारे सामाजिक काम भी किये साथ में अपनी राजनितिक पार्टी बनाकर चुनाव लड़े, और जीत हासिल किये। इन्होने अपनी तीव्र राजनैतिक सक्रियता से देश का ध्यान बहुत जल्दी अपनी ओर आकर्षित कर लिया था।

अरविन्द केजरीवाल का जन्म 16 अगस्त 1968 को सिवानी, जिला भिवानी, हरियाणा, भारत में हुआ था। केजरीवाल राजनितिक दुनिया में आने से पहले एक ग्रेड वन अधिकारी हुआ करते थे। नवंबर 2012 में, इन्होने औपचारिक रूप से अपनी पार्टी (आम आदमी पार्टी) का गठन किया था।

अरविन्द केजरीवाल का परिवार – इनके पिता का नाम गोबिंद राम केजरीवाल है जो एक विद्युत अभियंता थे, माता का नाम गीता देवी है। मनोज (युवा) इनके भाई है जो आईबीएम, पुणे में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर कार्य करते है। रंजना इनकी छोटी बहन हैं, जो बीएचईएल), हरिद्वार में चिकित्सक है। इनकी पत्नी का नाम सुनीता केजरीवाल है जो एक आईआरएस अधिकारी है इनका विवाह 1995 में हुआ था, पुलकित इनके बेटे है और हर्षिता इनकी बेटी।

Arvind Kejariwal Hindi (Biography) – संछिप्त परिचय

Arvind Kejariwal Hindi

  • नाम – अरविंद केजरीवाल
  • उपनाम – केजरी
  • प्रोफेशन – राजनेता
  • पार्टी – आम आदमी पार्टी
  • राजनीतिक यात्रा की शुरुआत – 2012 से
  • प्रसिद्धि – शीला दीक्षित के खिलाफ आंदोलन करके
  • जन्म – 16 अगस्त 1968
  • जन्म स्थान – सिवानी, जिला भिवानी, हरियाणा
  • वर्तमान पता – नई दिल्ली
  • गृहनगर – हरियाणा, भारत
  • शौक – पढ़ना, योग करना और विपासना करना
  • Arvind Kejariwal Height – 165 Cm
  • Kejariwal net Worth – 1.3 Cr.
  • भांषा का क्यां – हिंदी, अंग्रेजी
  • जाति (Caste) – वैश्य (बनिया)
  • पहले क्या थे – Former Bureaucrat (IRS Officer)
  • अभी क्या है – Delhi के  CM
  • आने वाले दिनों में सपने देखते है – प्रधानमंत्री बनने का

अरविन्द केजरीवाल की शिक्षा – (Education)

केजरीवाल की शुरुआती शिक्षा कैंपस स्कूल, हिसार, हरियाणा और Christian Missionary Holy Child विद्यालय, सोनीपत, हरियाणा, भारत से हुई थी, उसके बाद इन्होने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर, पश्चिम बंगाल, आईआईटी खड़गपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक किया था।

अरविन्द केजरीवाल का कैरियर –

पढाई पूरी करने के बाद केजरीवाल वर्ष 1989 में टाटा स्टील से अपने कैरियर की शुरुवात की थी। कुछ दिनों बाद इनका ट्रांसफर जमशेदपुर हो गया, यहाँ इन्होने तीन साल तक काम किया, बाद में वर्ष 1992 में इन्होंने नौकरी से इस्तीफा दे दिया और सिविल सर्विसेज की तैयारी करने लगे। कुछ समय बाद इनको सिविल सर्विस की परीक्षा में सफलता मिली और यह भारत सरकार में अफसर बन गए और ट्रेनिंग के लिए उत्तराखंड स्थित मसूरी में सिविल सेवा प्रशिक्षण सेण्टर चले गए, वहां इनकी मुलाकात पहले से ट्रेनिंग ले रही सुनीता से हुई, जो बाद में इनकी पत्नी बनीं।

केजरीवाल का राजनितिक सफर –

अधिकारी पद से नौकरी छोड़ने के बाद केजरीवाल ने दिल्ली की शिला दीक्षित सरकार में हो रहे करप्सशन के खिलाफ अनसन, आंदोलन और बिजली, पानी से जुडी समस्या को लेकर कई आवाजें उठायी, इनका आंदोलन दिनों दिन बढ़ता गया और अंत में इन्होने दिल्ली में शिला सरकार को गिरा ही दिया।

इन्होने अन्ना हजारे के साथ मिलकर लोकपाल बनाने के लिए कई बार अनसन और आंदोलन किये, बाद में अन्ना हजारे इनके राजनीति में जाने की वजह अन्ना ने इनका साथ छोड़ दिया, बाद में इन्होने अपनी पार्टी बना ली और सरकार में आ गए।

  • पहली बार नवंबर 2012 में केजरीवाल ने अपनी पार्टी बनाने को लेकर दुनिया के सामने आये थे।
  • वर्ष 2013 में यह शीला दीक्षित के खिलाफ चुनाव लड़ने का फैसला किया था।
  • उसी साल इन्होने दिल्ली बिधानसभा के चुनाव में शीला दीक्षित को 25,864 मतों के अंतर से पराजित किया था।
  • उसी वर्ष 28 दिसंबर को यह दिल्ली के मुख्यमन्त्री बने थे।
  • 25 मार्च 2014 को, केजरीवाल ने वाराणसी के निर्वाचन क्षेत्र से नरेंद्र मोदी के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ा था जिसमे यह 3,70,000 मतों के अंतर से पराजित हुए थे।

14 फरवरी 2015 को, यह दूसरी बार दिल्ली के मुख़्यमंत्री बने इस बार इन्होने बंपर जीत हासिल की थी 70 सीटों में से 67 इनकी पार्टी ने जीते थे। दिल्ली के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ था।

आरटीआई दिल्ली अधिनियम इनके प्रयासों का ही फल है, जिसकी वजह से वर्ष 2006 में इनको आरटीआई कानून के लिए रमन मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

अरविन्द केजरीवाल से जुडी रोचक जानकारी – (Arvind Kejariwal Hindi (Biography)

  • केजरीवाल धरना प्रदर्शन के लिए जाने जाते है।
  • यह अपने को एक ईमानदार नेता कहते है मगर दुनिया तो कुछ और ही कह रही है।
  • केजरीवाल और मनीष सिसोदिया अच्छे दोस्त है।
  • इनके पार्टी के नेताओं के बारे में कहा जाता है की ये लोग कभी गली मोहले में बैठते थे आज नेता हो गए है।
  • केजरीवाल इस समय दिल्ली में रहते है।
  • राजनीति में आने से पहले इन्होने जनता को बहुत कुछ वादा किया था, लोग कहते है की इस लाइन में आने के बाद ये भी वैसे ही हो गए जैसे नेता लोग होते है।
  • सोशल मीडिया पर इनका काफी मजाक बनाया जाता है।
  • इनकी छवि के बारे में हम कुछ नहीं लिखेंगे, आप खुद ही समझते होगें।
  • केजरीवाल के सोशल मीडिया पर मिलियन फोल्लोवेर भी है।

Arvind Kejariwal Hindi (Biography) से जुडी जानकारी कैसी लगी?

इनके जीवन में वाद-विवाद (Controversies) तो इतनी है जिसके बारे में बताना बहुत मुश्किल है आप खुद जानतें होगें।

  • पूर्व गवर्नर नजीब जंग से विवाद
  • टीवी एड का विवाद
  • नकली डिग्री
  • वन मैन पार्टी
  • बिजली बिल की अधिकता

Leave a Reply