MG Ramachandran Biography in Hindi – एमजीआर का जीवन परिचय

By | January 9, 2021

MG Ramachandran Biography in Hindi – मारुदुर गोपालन रामचन्द्रन उर्फ़ “एमजीआर” भारत के एक मशहूर अभिनेता और राजनीतिज्ञ थे, इनका जन्म 17 जनवरी 1917 को नवलपिट्टिया, कैंडी सेलन (वर्तमान में यह जगह श्रीलंका की सीमा के पास है) में हुआ था। यह वर्ष 1977 से लेकर 1987 तक मृत्युपर्यन्त तमिलनाडु में मुख़्यमंत्री रहे थे। 24 दिसम्बर 1987 को इनका निधन हो गया था।

MG Ramachandran Biography in Hindi –

MG Ramachandran Biography in Hindi

  • वास्तविक नाम – मरुथुर गोपालन रामचंद्रन
  • उपनाम – “एमजीआर”
  • प्रोफेशन – अभिनेता, फिल्म निर्माता और राजनेता
  • जन्म – 17 जनवरी 1917 को
  • तमिल सिनेमा में 30 साल से अधिक का समय
  • इंदिरा गाँधी से प्रभावित होकर राजनीति में आये थे
  • पार्टी का नाम – एमजीआर
  • पिता का नाम – मेलाक्कथ गोपाला मेनन
  • माता का नाम – मरुथुर सत्यभामा
  • यह भगवान मुरुगन के उपासक थे।
  • वर्ष 1935 में तमिल फिल्म इंडस्ट्री में एंट्री ली थी।
  • बतौर अभिनेता पहली फिल्म (‘‘ साथी लीलावथी‘‘1936) में आयी
  • इनकी पहली निर्देशन में बनी पहली फिल्म ‘‘ नाबूदी मन्नान‘‘ थी।

एक महान मानवतावादी शख्सियत –

इन्होने अपने जीवन में हमेशा गरीबों, जरूरतमंदों और वंचित लोगों की भलाई किया करते थे, इन्होने ही ‘‘पोषण मध्यान्ह भोजन योजना‘‘ शुरू की थी। यह कॉलीवुड में टेक्नीशियन का काम करने वाले लोगों के बच्चों के लिए प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल भी बनवाये थे। इन्होने महिलाओं के हितों के लिए भी कई कार्य किये थे जैसे – विशेष बस सेवा शुरू की, मदर टेरेसा महिला विश्वविद्यालय और तमिलनाडू विश्वविद्यालय संस्थान भी शुरू किये थे। बाढ़ और सूखा जैसी प्राकृतिक आपदाओं के लिए भी रामचंद्रन ने आर्थिक और बुनियादी सुविधाएं प्रदान की थी।

यह एक ऐसे महान ब्याक्तिव्व थे जिन्होंने थाई पत्रिका, द अन्ना समाचारपत्र, सथ्या और एमजीयर पिक्चर फिल्म स्टूडियो से होने वाली आय को जनकल्याण और दान में खर्च करते थे। उस ज़माने में जब भारत-चीन के बीच 1962 में युद्ध हुआ था तो एमजीआर पहले भारतीय थे जिन्होने युद्ध कोष में धनराशि दान की थी।

निजी जीवन –

एमजी रामचंद्रन ने अपने जीवनकाल में तीन शादी किये थे, पहली दो पत्नियां का समय से पहले निधन हो गया था, अंतिम पत्नी जानकी रामचंद्रन ने एमजीआर की मृत्यु के बाद एआईएडीएमके की बागडोर संभाली थी।

मृत्यु –

एम जी रामचंद्रन को समय के साथ किडनी की समस्या हो गयी थी, जिसके कारण उनको कई बार हॉस्पिटल में जाना पड़ता था, परेशानी तो तब बढ़ गयी जब वर्ष 1984 में इनकी किडनी फेल होने के कारण यूएस में ब्रूकलेन में डाउनस्टेट में इनको भर्ती कराया गया था, इसी साल इनका किडनी प्रत्यारोपण भी किया गया था। वर्ष 1987 में यह अपनी बीमारी से हार गए और 24 दिसंबर 1987 को इनका निधन हो गया।

पुरस्कार और सम्मान – (MG Ramachandran Biography in Hindi)

  • वर्ष 1960 में एम जी रामचंद्रन को पद्म श्री पुरस्कार मिलना था मगर इन्होने इंकार कर दिया था।
  • एमजीआर को 1972 में फिल्म ‘‘ रिक्शाकरण‘‘ में अच्छी भूमिका के लिए पुरस्कार मिला था।
  • इनको मद्रास विश्वविद्यालय और विश्व विश्वविद्यालय से डॉक्टरेट की मादक उपाधि भी मिली थी।
  • इनको वर्ष 1988 में मरणोपरांत भारत रत्न से नवाजा गया था।

महत्वपूर्ण वर्ष –

  • जन्म वर्ष 1917 में
  • वर्ष 1936 में तमिल फिल्म उद्योग में कदम।
  • वर्ष 1947 में पहली हिट फिल्म ‘‘राजकुमारी‘‘ रिलीज हुई।
  • वर्ष 1953 में डीएमके राजनीतिक पार्टी में शामिल
  • वर्ष 1956 में यह पहली बार फिल्म निर्देशक बने।
  • वर्ष 1962 में पहली बार राज्य विधान परिषद के सदस्य बने।
  • वर्ष 1967 में यह तमिलनाडू विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए।
  • वर्ष 1969 डीएमके के कोषाध्यक्ष बने।
  • वर्ष 1972 में इनको ‘‘रिक्शाकरण‘‘ फिल्म के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था।
  • वर्ष 1988 में इनको मरणोपरांत भारत रत्न पुरस्कार दिया गया।

MG Ramachandran Biography in Hindi से जुडी जानकारी आपको कैसी लगी ?

महान राजनीतिज्ञ अटल बिहारी बाजपेयी का जीवन परिचय

Leave a Reply